Bitcoin Mining क्या है | Bitcoin Mining कैसे शुरू करें- हिंदी में

हेलो दोस्तों,आज हम इस आर्टीकल में Bitcoin Mining के बारे में जानेंगे कि Bitcoin Mining क्या है और Bitcoin Mining कैसे शुरू करें? जैसे कि आप बिटकॉइन के बारे में जानते ही हैं कि बिटकॉइन Peer-To-Peer इलेक्ट्रॉनिक कैश सिस्टम है। बिटकॉइन को ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के द्वारा मैनेज किया जाता है। आपको यह भी पता होगा कि विश्व में सिर्फ 21 मिलियन Bitcoin को Mine किया जा सकता है। यह एक लिमिट है।

परंतु Blockchain.Com वेब्साइट के डाटा के मुताबिक विश्व में 21 मिलियन बिटकॉइन में से 18.89 मिलियन बिटकॉइन माइंस किए जा चुके हैं। जिन्हें बिटकॉइन माइनिंग कंपनी लोगों को उनके देश की करंसी के साथ एक्सचेंज कर बिटकॉइन उपलब्ध करवाती है। वहीं बचे 2.11 मिलीयन बिटकॉइन को वर्ष 2140 तक Mine किया जाएगा।

इस आर्टिकल में Bitcoin Mining से जुड़ी पूरी जानकारी को आपके साथ साझा करेंगे। अगर आपको बिटकॉइन से जुड़ी किसी भी चीज की जानकारी नहीं है तो आप हमारी बिटकॉइन क्या है? पोस्ट को पढ़कर सबसे पहले बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जान ले। Bitcoin Mining से संबधित इस आर्टीकल को पूरा पढ़े व ध्यानपूर्वक समझें।

Bitcoin Mining क्या है?

Bitcoin Mining क्या है

माइनिंग का मतलब होता है- ‘खोदना’ जिस प्रकार कोयले की खान में बहुत सारे लोग खुदाई कर कोयला निकालते हैं। ठीक इसी प्रकार विश्व भर में लोग बिटकॉइन को Mine करते हैं। परंतु यह कार्य किसी खान में नहीं होता। बल्कि Bitcoin Miners अपनी माइनिंग मशीन (कंप्यूटर,हार्डवेयर,सॉफ्टवेयर) के द्वारा बिटकॉइन माइनिंग करते हैं।

आसान भाषा में बिटकॉइन माइनिंग करने के लिए माइनर्स अपने कंप्यूटर हार्डवेयर पर बिटकॉइन माइनिंग सॉफ्टवेयर का प्रयोग करता है। यह सॉफ्टवेयर जटिल एल्गोरिदम प्रक्रिया को पूरा करते हैं। जो भी miners इस मुश्किल प्रक्रिया को सबसे पहले हल कर Block बनाता है। इस Block Mine करने के बदले उस माइनर को इनाम के रूप में नए बिटकॉइन मिलते हैं। इसी प्रकार बिटकॉइन बनते हैं। जो ‘bitcoin Mining‘ कहलाता है।

बता दें कि बिटकॉइन को माइन करना Sender और Receiver के बीच लेन-देन की प्रक्रिया पर निर्भर होता है। अगर बिटकॉइन का लेन-देन करना होता है। तभी नए Bitcoins बनने की प्रक्रिया शुरू होती है। जिसमे कंप्यूटर में माइनिंग सॉफ्टवेयर का प्रयोग कर ब्लॉक को Blockchain Network में जोड़ा जाता है।

Bitcoin Mining Machine किसे कहते हैं?

बिटकॉइन को बड़े लेवल पर माइन करने के लिए बड़ी बड़ी कंपनीज अपने Mining Farms बनाती है। जिसमें बड़ी संख्या में कंप्यूटर,हार्डवेयर का उपयोग किया जाता है। यह फ़ार्म्स ठंडे प्रदेशों में बनाए जाते हैं क्योंकि हार्डवेयर से निकलने वाली गर्मी को काबू करने की आवश्यकता ठंडे प्रदेश में नहीं होती। वहीं इससे एयर कंडीशनर(AC) पर होने वाला बिजली का खर्चा भी बच जाता है।

बिटकॉइन माइनिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग करने के लिए जिन Computer Hardware, Software का प्रयोग होता है। Bitcoin Mining Machine कहलाता है माइनिंग मशीन बनाने के लिए ग्राफिक कार्ड,मदरबोर्ड,रैम,पावर सप्लाई,हार्ड डिस्क,एलसीडी जैसे कंप्यूटर हार्डवेयर की जरूरत पड़ती है। जिसे Mining Software जैसे BFGMiner,Easy Miner पर Configurare कर Bitcoin Mining शुरू कर सकते हैं।

इन सभी हार्डवेयर,सॉफ्टवेयर की मदद से आप छोटे लेवल पर अपने घर में रहकर माइनिंग शुरू कर सकते हैं सभी हार्डवेयर को वुडनबॉक्स में फिक्स कर लेना है।जो Mining Rig कहलाता है। छोटी Bitcoin Mining Rig बनाने के लिए कम से कम दो से तीन लाख रुपए खर्चा आ जाता है।

बता दें कि अगर आप घर में किसी भी क्रिप्टोकरंसी को Mine करते हैं तो आप अपने शहर/राज्य की बिजली यूनिट के खर्चे का पता कर लें। क्योंकि इन सभी हार्डवेयर को रन करने के लिए और जिस कमरे में आपने Mining Rig बनाई है। वहां पर कमरे को ठंडा करने के लिए एयर कंडीशनर/पंखे की सुविधा होनी चाहिए जो आपके बिटकॉइन माइनिंग सिस्टम को ठंडा रखेगी।

Bitcoin Mining Software क्या होते हैं?

किसी भी प्रकार की क्रिप्टोकरंसी को माइन करने के लिए बिटकॉइन माइनिंग सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ती है। जिस पर हम अपने द्वारा बनाई गई Bitcoin Mining Rig को माइनिंग हेतु उपयोग में लाएंगे। इन सॉफ्टवेयर को डाउनलोड किया जाता है। व हम इन पर अपने GPU/CPU की सहायता से होने वाले प्रॉफिट को कैलकुलेट कर Mining शुरू कर सकते हैं।

बेस्ट फ़्री माइनिंग सॉफ्टवेयर 2022

माइनिंग सॉफ़्टवेयरकिसके लिए सहीप्लेटफार्म
1.Kryptex Minerशुरुआती माइनर्स के लिएविंडोज
2.Be Mineबड़े स्तर पर माइनिंग के लिएवेब पर आधारित
3.Easy Minerसभी प्रकार की क्रिप्टोकरेन्सी माइन के लिएविंडोज़
4.CG Minerसभी प्रकार की डिवाइस के लिएविंडोज़,लिनक्स,मैक
5.Multiminerआसानी से उपयोग कर सकते हैविंडोज़,लिनक्स,मैक

Bitcoin Mining कैसे शुरू करें?

Bitcoin Mining कैसे शुरू करें

Bitcoin Mining शुरू करने के लिए आपको कई जरूरी बातों का पता होना चाहिए। जैसे बिटकॉइन या फिर किसी भी क्रिप्टोकरंसी को माइन करना आपके कंप्यूटर की पावर पर निर्भर करता है। आपने किस माइनिंग मशीन का प्रयोग किया है।ग्राफिक कार्ड,मदरबोर्ड से लेकर तमाम चीजें जिससे Mining Rig तैयार होती है तथा जिससे हम Mining शुरू करते हैं।

आपके कंप्यूटर में उपयोग माइनिंग के लिए हार्डवेयर,सॉफ्टवेयर की पावर ही आपके Hash Rate को बताती है। साथ ही क्रिप्टोकरंसी को माइन करने की गति और इससे होने वाले Profit सब चीजें आपके माइनिंग मशीन में उपयोग हार्डवेयर पर निर्भर करती है।

साथ ही आप घर में माइनिंग शुरू करते हैं तो आपको 24 घंटे इंटरनेट की सुविधा व इलेक्ट्रिसिटी चाहिए होगी। जिससे आप अपनी माइनिंग रिग को Hit Up होने से बचाएंगे और बिटकॉइन माइनिंग में कोई रुकावट न आए। इसलिए 24 घंटे बिजली का भी इंतजाम आपको करना होगा। अब हम जानेंगे कि घर में Bitcoin Mining कैसे शुरू करें।

Bitcoin Wallet को चुने :

क्रिप्टोकरेन्सी को माइन करने के लिए या फिर क्रिप्टोकरंसी ट्रांजैक्शन के लिए आपको सबसे पहले बिटकॉइन वॉलेट को चुनना। Wallet बनाए बिना आप किसी भी क्रिप्टोकरंसी का लेनदेन नहीं कर सकते न ही इसमें निवेश कर सकते आप Binance,Coinbase,WazirX,ZebPay में से किसी भी बिटकॉइन वॉलेट पर अपना अकाउंट बना सकते हैं।

सही Mining Pool चुने :

Mine Pool में माइनर अपनी Hash Rate को Pool की तरफ़ भेजता है। जहां बाक़ी के माइनर्स भी अपनी Hash Rate को Mining Pool में भेजते है। क्यूँकि एक ब्लॉक को बनाने जितनी Hash Rate की ज़रूरत होती है। उसे अकेला माइनर पूरी नहीं कर सकता।

ऐसे में सभी माइनर अपनी Hash Rate को Mining Pool में भेजते है। जो की एक Block बनाते है। अब एक ब्लॉक बन जाने के बाद जो Reward प्राप्त होता है। वह सभी माइनर के द्वारा जोड़ी गयी। हैश रेट के हिसाब से उनका हिस्सा उन्हें मिल जाता है।

इसीलिए Mining Pool को चुने क्यूँकि अगर आप घर में माइनिंग शुरू करते है तो आप उतनी Hash Rate जनरेट नहीं कर पायेंगे। जो की एक Block बनाने के लिए पर्याप्त होती है। F2 Pool,Antpool,ViaBTC,Poolin फ़ेमस माइनिंग पूल है।

Mining Pool में अकाउंट बनायें :

सही Mining Pool चुन लेने के बाद आप उसमें अपना account बनाए। अपने Email ID और Password भरकर अकाउंट को जोड़े और बिटकोईंन वॉलेट में मौजूद Public Address को भरे। ताकि आपकी माइनिंग द्वारा जमा राशि को प्राप्त कर सके अपने Bitcoin Wallet में।

Mining Software को डाउनलोड करें :

आगे की प्रक्रिया आसान है। जिसमें आपको Mining Software को डाउनलोड कर लेना है। आप जिस भी सॉफ़्टवेयर को डाउनलोड करेंगे। उसमें आपके द्वारा चयनित Mining Pool को चुने और Login कर ले। इसके बाद आपके Mining machine में उपयोग GPU को चुने। जिसके बाद आपको software में Start Mining पर OK दबा देना है। इस तरह आप Bitcoin Mining शुरू कर सकते है।

Bitcoin Mining Software में आप अपने माइनिंग मशीन द्वारा जनरेट Hash Rate को देख सकते है। इस Hash Rate के हिसाब से आप एक दिन में कितना कमायेंगे जैसी चीजें भी आप देख सकते है।

Miner कौन होता है?

जब भी Bitcoin लेन-देन की प्रक्रिया शुरू होती है तो नए Transactions को Blockchain में जोड़ा जाता है। नए ब्लॉक बनते है। जिनको Miners वेरिफ़ाई करते है। इसके लिए माइनर्स को अपनी माइनिंग मशीन से Transactions Fee का हिस्सा दिया जाता है। जो Bitcoin होता है। Bitcoin लेनदेन की प्रक्रिया में शामिल व्यक्ति Miner कहलाता है।

Cryptocurrency Mining में बिजली की खपत ज़्यादा क्यों होती है?

Cryptocurrency Miners अपनी मशीन माइनिंग के जरिए जटिल कंप्यूटेशनल कैलकुलेशन को हल करते हैं। जिससे वह बिटकॉइन प्राप्त करते हैं। ठीक इसी प्रकार हर साल बिटकॉइन जनरेट हो रहे हैं। जिससे Heavy Mining Machine की जरूरत पड़ती है। जितने ज्यादा Heavy Mining Hardware का उपयोग होगा। इतनी ज्यादा बिजली क्रिप्टोकरंसी Mine करने में उपयोग होगी।

बिटकॉइन निर्माता के द्वारा Bitcoin को प्रकार बनाया गया है कि हम सिर्फ 21 मिलियन बिटकॉइन बना सकते हैं। शुरू से लेकर अब तक 19 मिलियन बिटकॉइन को जनरेट कर लिया गया है। इस वर्षों के दौरान बिजली की खपत नॉर्मल थी। परंतु अब बाकी के बचे बिटकॉइन वर्ष 2140 तक बना लिए जाएंगे। इन वर्षों में Heavy Mining Machine का प्रयोग लोग Mining Farms में करेंगे।

जिससे माइनिंग में इतनी बिजली की खपत होगी। जो कि कई देशो की बिजली खपत के बराबर होगी।यानी देशों को बिजली बनाना दोगुना या तिगुना करना पढ़ सकता है। इसी वजह से लोग बिटकॉइन माइनिंग की आलोचना करते हैं। क्योंकि इससे प्राकृतिक संसाधनों जैसे विधुत बनाने के लिए जल का ज्यादा उपयोग होता है।

क्या Bitcoin Mining Profitable है?

बिटकॉइन माइन करने के लिए बड़ी रकम Mining Rigs बनाने पर लग जाती है। जिसमें सबसे पहले हमें Rigs को बनाने में खर्च हुए पैसों को पूरा करना होता है। वही माइनिंग शुरू करना बिटकॉइन की कीमत पर निर्भर करता है जो कि हर दिन बढ़ती-घटती रहती है।

माइनिंग सॉफ्टवेयर Hash Rate का हिसाब लगाकर आपकी 1 दिन की कमाई को भी बता देते हैं। अगर Bitcoin Price नीचे गिरता है। तो आपको घाटे का सामना करना पड़ सकता है। वहीं अगर कीमत बढ़ती है तो आप इससे ज्यादा Profit भी कमा सकते हैं।

Hash Rate क्या होती है?

माइनिंग करते वक्त कम्प्यूटर की पावर को Hash Rate में जाँचा जाता है। अगर Computational Power ज़्यादा होती है तो वह High Hash Rate कहलायेगी। Bitcoin Transaction को वेरिफ़ाई करने हेतु व इसे blockchain Ledger में जोड़ने के लिए High Hash Rate की ज़रूरत पढ़ती है।

Conclusion (निष्कर्ष) :

आख़िर में दोस्तों Cryptocurrency Mine करने के लिए 2014-15 के मुक़ाबले अब बड़े-बड़े फार्म बनाए जा रहे है। जहां कई बड़ी कम्पनीया Bitcoin Mining करवाती है। ऐसे में अगर हम वर्ष 2014-15 की बात करे तो ज़्यादातर लोग अपने घर पर माइनिंग रिग बनाकर Mining शुरू कर देते थे।

परंतु बात करे आज के समय की जितने कम बिटकॉइन माइन करने को रह रहे है। उसमें ज़्यादा हैश रेट का उपयोग होता है। Heavy Machine का उपयोग होता है। जिससे बड़ी Bitcoin Mining Companies खूब profit ले रही है। परंतु ऐसे में छोटे माइनर Bitcoin mining के इस खेल से दूर होते जा रहे है।

जिस तरह बिटकॉइन बनते जाएगे। उसी तरह नए बिटकॉइन बनाने के लिए छोटे Miner को Heavy Mining Rigs ख़रीदनी पड़ेगी। जो कि काफ़ी ज़्यादा महँगी होती है।

दोस्तों अगर आपको हमारी Bitcoin Mining क्या है और Bitcoin Mining कैसे शुरू करें? पोस्ट पसंद आयी तो इसे अपने दोस्तों में ज़रूर शेयर करे। इस लेख के बारे में अपने विचार नीचे कॉमेंट में अवश्य बताए।

मेरा नाम Abhishek है। इस ब्लॉग का संस्थापक और लेखक हूं। मै Yoabby.com पर सभी आर्टिकल को हिंदी भाषा में लिखता हूं। मुझे लिखने का बहुत पहले से ही शौक था। ब्लॉगिंग के द्वारा मैं अपने शौक को भी पूरा कर रहा हूं। और साथ ही YoAbby.com पर आए लोगों को टेक्नोलॉजी के बारे में हिंदी भाषा में आर्टिकल उपलब्ध करवा रहा हूं।

Leave a Comment