ईमेल क्या हैं? और ईमेल के लाभ,सीमायें-हिंदी में जानकारी

ईमेल क्या हैं?- जो लोग अभी इंटरनेट का उपयोग करने लगे हैं। उनके सामने अभी ऐसी कई चीजें आने वाली है। जिनसे वह अभी अनभिज्ञ है। internet के प्रयोग में सबसे पहले Email का जानना बहुत ही जरूरी है। सबसे पहले Email का प्रयोग किया जाता है। चाहे वह अपनेस्मार्टफोन में या बिजनेस में आपको अगर इनमें से किसी भी काम को शुरू करना है।

तो सबसे पहले आपके पास अपनी एक E-Mail ID यह कह सकते हैं कि Email Address होना चाहिए अब आप सभी को अच्छे से जानकारी देने के लिए हमने Email से संबंधित पूरी जानकारी को अपनी पोस्ट में लिखा है।

ईमेल क्या है? What is email in hindi

पहले के जमाने में पत्र अथवा चिट्ठी को भेजने के लिए डाक सेवा का उपयोग किया जाता था। इसमें कई महीने या दिन लग जाते थे। हमारा पत्र अपने रिश्तेदारों या दोस्तों के पास पहुंचने में या कभीकभी तो हमारा पत्र पहुंचता ही नहीं था।ऐसे में जब दुनिया में Internet का आगमन हुआ। तो सभी लोग जिनके पास कंप्यूटर थे उस समय में संदेश यानि Mail भेजने के लिए Email का प्रयोग करने लग गए

ईमेल क्या हैं
ईमेल क्या हैं? और ईमेल के लाभ,सीमायें

Email का मतलब Electronic Mail होता है। ईमेल में किसी कागज पत्र की जरूरत नहीं पड़ती। आपको बस इसमें इंटरनेट सेवा की जरूरत होती है। अपनी Email Id बनाकर हम एकदूसरे को ईमेल भेज सकते हैं। सरल भाषा में Email (इलेक्ट्रॉनिक मेल) का अर्थ हमारे द्वारा लिखे गए संदेशों को इलेक्ट्रॉनिक विधि के द्वारा अपने मित्रों,किसी विशेष व्यक्ति या किसी समूह के लोगों को संदेश भेजना है।

ईमेल एड्रेस क्या है? What is Email Address in Hindi

Email Id Create करने पर हमें एक ईमेल एड्रेस दिया जाता है। यह ईमेल एड्रेस प्रत्येक व्यक्ति का सिर्फ एक ही Email Address होता है। इस एड्रेस के द्वारा हम उस व्यक्ति को पहचान पाते हैं। जिसको हम मेल अर्थात संदेश भेजना चाहते हैं। आप जिस व्यक्ति को Email भेजते हैं। उस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस आपके पास होता है। ठीक ऐसा ही अगर आपको वह व्यक्ति संदेश भेजना चाहता है तो उसके पास आपका Email Address होना जरूरी है। ईमेल एड्रेस इस प्रकार का होता है-[email protected]

ईमेल के अविष्कारक कौन है ?

मेल को Ray Tomlinson के द्वारा 1971 में बनाया था। दोस्तों अगर बाहरी देशों की बात करें तो रे टॉमलिंसन को ईमेल के आविष्कारक के रूप में जाना जाता है। परंतु भारतीय मूल के शिवा अय्यादुरै भी यह दावा करते आए हैं कि ईमेल को इन्होंने ही 14 वर्ष की आयु में सबसे पहले Email Software को तैयार किया था। वही अगर आप की जानकारी की बात करें तो Ray Tomlinson को ही आधिकारिक तौर पर ईमेल का आविष्कारक कहा गया है।

ईमेल को कैसे भेजा जाता है ?

दोस्तों इस सवाल का जवाब आपको हमारी दूसरी पोस्ट पर मिलेगा। जिसमें हमने Email को कैसे भेजा जाता है। Mail Box क्या होता है। Email से संबंधित और भी महत्वपूर्ण जानकारी को आपके साथ दूसरी पोस्ट में साझा किया है। इसके लिए आप हमारी यह पोस्ट भी जरूर पढ़ें। ताकि Email का संपूर्ण ज्ञान आपको मिल सके।

ईमेल के लाभ? Benefit Of Email in Hindi

  • मेल को सेकंडो में एक दूसरे व्यक्ति को भेजा जाता है। जिससे हमारा काफी समय बच जाता है।
  • अगर हम विदेश में अपनी चिट्ठी को लिख कर भेजते हैं तो हमारे इसमें बहुत पैसे खर्च हो जाते हैं। परंतु ईमेल के द्वारा आप Unlimited Email भेज सकते हैं और वह भी कम कीमत पर।
  • एक बार प्रैक्टिस करने के बाद आप Email को आसानी से किसी को भी भेज सकते हैं। आम पत्र लिखने के मुकाबले ईमेल भेजना तेज और आसान है।
  • आप दुनिया के किसी भी कोने में क्यों नहीं रहते हो। आप किसी को भी Email कर सकते हो। बस आपके पास internet होना आवश्यक है।
  •  दिन हो या रात या कोई सा भी स्पेशल दिन आप जब भी मन करे ईमेल भेज सकते हैं।
  • आपके दोस्त रिश्तेदारों के द्वारा भेजे गए संदेशों को आप आसानी से स्टोर कर सकते हो।
  • Email ने कागज के प्रयोग को बिल्कुल खत्म कर दिया है।

ईमेल की सीमायें – Email Limitations in Hindi

  •  ईमेल का प्रयोग करने के लिए आपके पास कंप्यूटर मोबाइल और इंटरनेट का होना आवश्यक है।
  • आप ईमेल में अपनी भावनाओं को दूसरे व्यक्ति को व्यक्त नहीं कर सकते।
  • आप जिस व्यक्ति को Email भेज रहे हो उसके द्वारा आपके ईमेल को बदला जा सकता है।
  • जिस व्यक्ति को आप Email करना चाहते हो उसके पास Email Id होना जरूरी है।

Email के द्वारा क्याक्या भेजा जा सकता है ?

ईमेल के द्वारा हम डॉक्यूमेंट,फाइल,पिक्चर,मैगजीन को भी भेज सकते हैं। Email का मतलब यह नहीं है कि सिर्फ आप संदेश ही भेज सकते हैं। इस में दिए गए CC और BCC जैसे फीचर्स आपके लिए बहुत उपयोगी सिद्ध हो सकते हैं।

Email कैसे काम करता है? How does Email work in Hindi

ईमेल कैसे काम करता है
जानिए ईमेल कैसे काम करता है?

उदाहरण के साथ समझते हैं : दोस्तों जिस प्रकार हम अपना पत्र डाक घर में जाकर पोस्ट करके आते हैं। और फिर वह अलगअलग डाक स्टेशनों से होता हुआ गुजरता है और फिर डाकिया हमारे घर तक पत्र को पहुंच जाता है। उसी प्रकार Email में ठीक ऐसी ही प्रक्रिया अपनाई जाती है।

  • Sender : यानी कि हम ईमेल किसी को भेज रहे हैं।
  • Mail Server : इसके बाद हमारा Email Server में जाता है। इस वाले मेल सर्वर में मेल को स्टोर किया जाता है।
  • Mail Server : इसके बाद Email इस सर्वेर में आता है और इलेक्ट्रॉनिक मेल बॉक्स में जमा हो जाता है।
  • Receiver : इस प्रक्रिया के बाद संदेश Sender से Receiver के पास पहुंच जाता है।

दोस्तों इस प्रक्रिया में 1 सेकेंड से भी कम यानी मिली सेकंड में काम होता है। यह यह प्रक्रिया तेज होती है। जिससे तेज गति से हमारा मेल प्राप्तकर्ता तक पहुंच जाता है।

आपने क्या सिखा :

आख़िर में दोस्तों कम्प्यूटर,मोबाइल फ़ोन में सबसे ज़्यादा उपयोग होने वाली टर्म यानी की Email की बारे में हमने जाना। ऐसे अभी भी बहुत से लोग है जिन्हें सही से Email की जानकारी नही है।और अपने बिज़नेस या किसी को कोई संदेश भेजने हेतु सोशल  मीडिया का सहारा लेते है। बता दे कि हर दिन 306.4 बिलियन ईमेल पूरे विश्व में भेजे जाते है। क्यूँकि यह सबसे सुरक्षित तरीक़ा है। ज़रूरी दस्तावेज़ों का आदान-प्रदान करना सब इसी से होता है। इसीलिए ईमेल से जुड़ी हर जानकारी को समझे और सीखें।

अगर आपको हमारी ईमेल क्या हैं? और ईमेल के लाभ,सीमायें पोस्ट अच्छी लगी तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके अवश्य बताएं या आप हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं। तो भी हमें कमेंट करके बताएं।

Leave a Comment