Optical Fiber क्या है | Optical Fiber कैसे काम करता है- हिंदी में

नमस्कार,दोस्तों आज हम आपको Optical Fiber क्या है के बारे में पूरी जानकारी देंगे। अक्सर हमारे मन में यह सवाल जरूर उठता है।कि आखिर जिस Internet का प्रयोग हम अपने स्मार्टफोनलैपटॉपकंप्यूटर्स में कर रहे हैं। वह किस प्रकार चलता है। हम यह सोच लेते हैं कि यह सब किसी सेटेलाइट की मदद से चलता होगा। जैसे कि टीवी चलते हैं। परंतु ऐसा नहीं है। हम तेज इंटरनेट का प्रयोग ऑप्टिकल फाइबर केबल के द्वारा कर पाते हैं। आगे इस पोस्ट में हम इसी Optical Fiber की पूरी जानकारी आपको देंगे। Optical Fiber क्या है पोस्ट को पूरा पढ़ें और ध्यान से समझें

Optical Fiber क्या है? What is Optical Fiber in Hindi

Optical Fiber का हिंदी मतलबप्रकाशीय तंतुहोता है। यानी कि ऑप्टिकल फाइबर ऐसा तंतु होता है। जिसमें से डाटा को प्रकाश की गति से गुजारा जाता है। प्रकाश की गति सबसे तेज होती है। इसीलिए ऑप्टिकल फाइबर की सहायता से हम किसी भी डाटा या जानकारी को एक स्थान से दूसरे स्थान में गतिशील तरीके से भेज सकते हैं। Optical Fiber का प्रयोग प्राय: तेज गति इंटरनेट के लिए ज्यादा किया जाता है।

Optical Fiber क्या है
Optical Fiber क्या है

तंतु की सुरक्षा के लिए इसकी Cable को मोटा बनाया जाता है। ऑप्टिकल फाइबर के यह तंतु हमारे सिर के बाल जितने पतले होते हैं। यह Fiber कांच या प्लास्टिक के बने होते हैं।

Optical Fiber का आविष्कार किसने किया

ऑप्टिकल फाइबर का आविष्कार भारतीय वैज्ञानिक जिनका नामनरेंद्र सिंह कपानीने 1953 में किया था। वह ऑप्टिकल फाइबर के बंडल बनाने में कामयाब रहे थे। साथ ही उन बंडल पर (Images) छवियों को प्रसारित करने में भी कामयाब रहे थे। नरेंद्र सिंह कपानी को फाइबर ऑप्टिक्स का पिता कहा जाता है। 4 दिसंबर 2020 को 94 वर्ष की उम्र में उनका स्वर्गवास हो गया।

सन 1966 Charles Kuen Kaoने यह पता लगाया कि Digital Data को प्रकाश की मदद से 100 किलोमीटर से भी ज्यादा दूरी तक भेजा जा सकता है। यहीं से इंटरनेट के विकास का शुभारंभ हुआ। Charles Kuen Kao को 2009 में भौतिकी पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

Optical Fiber कैसे काम करता हैं

Optical Fiber कैसे काम करता है
Optical Fiber कैसे काम करता है

प्रकाशीय गति हमेशा इलेक्ट्रॉन की गति से तेज होती है। इसीलिए प्रकाशीय गति का उपयोग इंटरनेट संचार में किया जाता है। Optical Fiber पूर्ण आंतरिक परावर्तन के सिद्धांत पर कार्य करता है। पूर्ण आंतरिक परावर्तन यानी कि जब प्रकाश को ग्लास पर डाला जाता है तो या तो प्रकाश आर पार गुजर जाएगा। या फिर प्रतिबिंबित हो जाएगा।

इसके साथ ही अगर हम ग्लास में प्रकाश को विशेष कोण पर डालते हैं। तो प्रकाश ग्लास में से प्रतिबिंबित हो जाती है। जैसा कि ऊपर चित्र में दिखाया गया है। प्रकाश कांच में से Zig-Zag  तरीके से गुजर रहा है। इसे ही पूर्ण आंतरिक परावर्तन कहा जाता है। इसी प्रकार ऑप्टिकल फाइबर केबल में से प्रकाश गुजरता है और ऑप्टिकल फाइबर काम करती है।

यह भी पढे

Samsung Members App क्या हैपूरी जानकारी

Data Center क्या होता है – What Is Data Center In Hindi

Optical Fiber कैसे बनते हैं

ऑप्टिकल फाइबर को ग्लास या प्लास्टिक से बनाया जाता है। Fiber Optics को बनाने के लिए सिलिका (Sio2) का प्रयोग किया जाता है। सिलिका रेत जैसी दिखाई देती है। ऑप्टिकल फाइबर में दो चीजें मुख्य भूमिका निभाती हैं।

Core (कोर)

कोर ही ऑप्टिकल फाइबर होती है। जोकि बहुत पतली होती है। इसमें जब हम प्रकाश डालते हैं तो प्रकाश Zig-Zag  तरीके से गुजरता है। इसमें पूर्ण आंतरिक परावर्तन होता है।

Cladding (क्लैडिंग)

ऑप्टिक फाइबर में यह कोर के बाद दूसरा भाग होता है। यह कोर में से प्रकाश को वापिस कोर में प्रतिबिंबित कर देती है। Core और Cladding यह दो भाग फाइबर ऑप्टिक के सबसे ज्यादा जरूरी भाग होते हैं। जैसे कि यह केबल पूरी दुनिया में फैली हुई है।जहां यह केबल नहीं होती। वहां आप तेज इंटरनेट की कल्पना नहीं कर सकते। 

समुद्री रास्तों में से इन फाइबर ऑप्टिक्स केबल को बिछाया जाता है। ऐसे में समुद्री जहाजों,समुद जलीय जीवो से सुरक्षा के लिए इसके ऊपर कोर और क्लैडिंग के बाद Buffer Jacket और केबल में स्टील की सुरक्षा भी दी जाती है। जिससे कोई जीव या विमान अंदर कोर को नुकसान नहीं पहुंचा पाता। आज तकरीबन पूरी दुनिया में इन ऑप्टिकल फाइबर केबल का फैलाव किया जा चुका है।

Optical Fiber केबल के प्रकार – Types Of Optical Fiber In Hindi

1. अपवर्तन के आधार पर

() Step Index Fiber

() Graded Index Fiber

2. फाइबर ऑप्टिक्स में उपयोग Materials के आधार पर

() प्लास्टिक ऑप्टिकल फाइबर

प्रकाश को गुजारने के लिए ऑप्टिकल फाइबर प्लास्टिक के बनाए जाने लगे। इसको बनाने में कांच से कम खर्च आता है और लचीलापन होता है। प्लास्टिक फाइबर बनाने के लिए Poly (Methyl Methacrylate)  मेटेरियल का प्रयोग किया जाता है।

() ग्लास (कांच) फाइबर

कांच का प्रयोग फाइबर बनाने में शुरू से ही किया जाता था। ग्लास फाइबर बनाने में बढ़िया किस्म के ग्लास का प्रयोग किया जाता है।

3. प्रकाश के गुजरने की स्थिति के आधार पर

() Single-Mode Fiber

जब फाइबर में एक ही समय में एक ही किरण गुजरती है। उसे Single-Mode Fiber कहते हैं।

() Multi-Mode Fiber

जब फाइबर में से एक ही समय में एक से ज्यादा किरणें गुजारी जाती हैं। उसे Multi-Mode Fiber कहते हैं।

Optical Fiber का प्रयोग कहां होता है

1. टेलिफोन सिस्टम में।

2. पनडुब्बी केबल नेटवर्क में।

3. कंप्यूटर नेटवर्क में।

4. डाटा पहुंचाने और प्राप्त करने में।

5. स्वास्थ्य संबंधी मशीनों में।

6. इंटरनेट से डाटा तेज गति में पहुंचाने में।

7. अंतरिक्ष कार्यों में।

8. मोबाइल टावर में।

9. वाईफाई नेटवर्क मेंल

10. डेकोरेशन में।

Optical Fiber Cable की सुरक्षा कैसे की जाती है

Fiber Optics Technology आज पूरे विश्व भर में फैली हुई है। समुद्री मार्गो से एक देश से दूसरे देश में इंटरनेट सुविधा ऑप्टिकल फाइबर के द्वारा दी जाती है। समुद्री मार्ग में कोई केबल को नुकसान पहुंचा दे। ऐसे में ऑप्टिकल फाइबर की सुरक्षा के लिए इसमें कई परतें स्टील और खास तरह की रबड़ का प्रयोग किया जाता है। जो कि आसानी से काटी नहीं जा सकती और ना ही पानी में गलती है।

समयसमय पर इन केबल को इन्हें लगाने वाली कंपनी जी के द्वारा जांचा जाता है। समुद्री मार्ग में एक विशेष प्रकार की मशीन के द्वारा इन Cable को दबाया जाता है। ऐसे में फाइबर ऑप्टिक की सुरक्षा कोर के बाद चढ़ाई गई परतें ही कर देती हैं। इन्हें किसी प्रकार का कोई भी नुकसान नहीं पहुंचता।

Optical Fiber के क्या फायदे हैं

1. वज़न में हल्के होते हैं।

2. बड़ा बैंडविथ जिस से ज्यादा दूरी तक डाटा भेज सकते हैं।

3. कम बिजली खर्च होती हैल

4. आकार में छोटे होते एंव वजन में हल्के होते हैंल

5. कॉपर केबल से सस्ते होते हैं।

6. शॉर्ट सर्किट का खतरा नहीं।

7. तेज गति से डाट भेजने में सक्षम।

8. ऑप्टिक फाइबर सुरक्षित होता हैं।

Optical Fiber के क्या नुकसान हैं

1. इंस्टॉलेशन काफी महंगी पड़ती है।

2. केबल को क्षति होने पर विशेष उपकरणों से ही सही किया जा सकता है।

3. ऑप्टिकल फाइबर के लिए अत्यधिक कुशल इंस्टॉलर्स होने चाहिए।

निष्कर्ष

हमने इस आर्टिकल के जरिए Optical Fiber से जुड़ी सभी बातों को अच्छे से जाना और समझा। साथ ही दोस्तों बता दें कि भारत सरकार ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को भी ऑप्टिकल फाइबर केबल नेटवर्क से जोड़ लिया है। ताकि वहां के लोगों को भी High Speed Internet उपलब्ध हो सके। भारतीय संचार निगम लिमिटेड (BSNL) ने अंडमान निकोबार द्वीप समूह में Optical Fiber Cable को बिछाया है।

Optical fiber in hindi
Optical fiber क्या है

तो दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट Optical Fiber क्या है अच्छी लगी तो हमें नीचे कमेंट करके अवश्य बताएं और साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों में भी शेयर करें।

Leave a Comment