Space Tourism क्या है- What is Space Tourism in Hindi

आज हम अपनी इस पोस्ट में दुनिया से बाहर की चीज यानी कि अंतरिक्ष जहां हर कोई जाना चाहता है और हर कोई देखना चाहता है।कि ऊपर से हमारी पृथ्वी कैसी दिखती होगी। एक प्रतिशत से भी कम लोग अंतरिक्ष से पृथ्वी को देखने का सौभाग्य प्राप्त करते हैं। परंतु साल 2022 के आते तक अंतरिक्ष की सैर लोगों को कराने के लिए SpaceX, Blue Origin,Scaled Composites,Virgin Galactic.

जैसी Space Agency के नाम सामने रहे हैं। जो कि यह दावा करते हैं कि आने वाले कुछ समय में लोगों को Space में पृथ्वी से बाहर की दुनिया का अनुभव कराने के लिए भेजा जाएगा। आइए विस्तार से जानते हैं कि Space Tourism क्या है पोस्ट को पूरा पढ़ें और ध्यान पूर्वक समझे।

Space Tourism क्या है? What is Space Tourism in Hindi

Space Tourism क्या है
Space Tourism क्या है?

Space Tourism का हिंदी मतलबअंतरिक्ष पर्यटनयानी कि अंतरिक्ष में लोगों को पर्यटक के तौर पर भेजना कई देशों की स्पेस एजेंसी ने 2040 तक लोगों को अंतरिक्ष की सैर कराने का दावा किया है। हालांकि कई लोग पहले भी अंतरिक्ष में जा चुके हैं। परंतु अबकी बार एक ही बार में 800 से भी ज्यादा लोगों को Space में भेजे जाने की योजना है। जहां वह नीले ग्रह को अंतरिक्ष से देख सकते हैं और “Zero Gravity” का अनुभव ले सकते हैं। लोगों को अंतरिक्ष में भेजने के मिशन को स्पेस एजेंसी ने Space Tourism का नाम दिया है।

Space Tourism कैसे काम करेगा?

स्पेस एजेंसी जैसे कि Virgin Galactic, Spacex, Blue Origin यह तीन प्रमुख स्पेस कंपनीज है। जो कि स्पेस टूरिज्म को सच बनाने में काम कर रही है। यह तीन कंपनी अलग अलग है और यह अपने हिसाब से ऐसे स्पेसक्राफ्ट तैयार करेगी। जिससे एक बड़ी संख्या में लोगों को पृथ्वी से बाहर अंतरिक्ष में ले जाया जाएगा। इन Spacecraft में होटल यानी एक बड़ी संख्या में लोगों को ले जा रहे हैं तो उनके खाने पीने की व्यवस्था सब इन्हीं स्पेस कैप्सूल में होगी। यह ऐसे स्पेसक्राफ्ट होंगे जो कि Transparent होंगे। जिससे लोग अंतरिक्ष से पृथ्वी को स्पेसक्राफ्ट में से आसानी से देख सके।

अभी बताया यह जा रहा है कि इस अंतरिक्ष की सैर में लोगों को 2 महीनों के लिए अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। और जाहिर सी बात है स्पेस में अगर जाना है। तो आपको एक बड़ी रकम भी अदा करनी होगी माना जा रहा है। कि स्पेस कंपनी Space Tourism के लिए प्रति व्यक्ति 55 से 60 मिलियन डॉलर तक ले सकती है। स्पेस कंपनी Blue Origin जोकि Amazon Ceo जैफ बेजॉस की कंपनी है। इन्होंने Spacecraft बनाने पर काम शुरू कर दिया है। SpaceX भी इस दौड़ में शामिल है। यह कंपनीज पहले भी अंतरिक्ष की सैर कई लोगों को करवा चुकी है। जहां से स्पेस टूरिज्म का विचार सामने आया।

अब हर कंपनी टूरिज्म के जरिए मुनाफा कमाने की ओर कदम बढ़ा रही है। Space में लोगों को ले जाने से पहले उन लोगों की 1 साल तक Space Suit में ट्रेनिंग होगी। जिसके बाद वह अंतरिक्ष में जा सकेंगे और साथ ही इन लोगों को Zero Gravity को हैंडल करना सिखाया जाएगा। सभी प्रकार के टेस्ट होने के बाद लोग अंतरिक्ष में जाने को तैयार माने जाएंगे।

यह भी पढे

गूगल मैप पर Indian Maps Blur क्यों दिखाई देते हैंहिंदी मे

Esports क्या है | E-Sports Join कैसे करेंहिंदी में

Space Tourism कंपनीज कौन सी है?

स्पेस टूरिज्म में ज्यादातर प्राइवेट कंपनीज है। जो स्पेस में लोगों के जाने के सपनों को साकार करेगी। यह वह कंपनीज है जो ऐसे Spacecraft तैयार करेगी। जो लोगों को स्पेस का बेहतर अनुभव करवा सके। उन स्पेस कंपनी के नाम इस प्रकार है।

Blue Origin

ब्लू ओरिजन अमेजॉन के संस्थापक जैफ बेजॉस की कंपनी है। जैफ बेजॉस का कहना है कि वह ब्लू ओरिजन को Space Tourism के लिए सहज बनाना चाहते हैं।

SpaceX

Spacex को Elon Musk के द्वारा 2002 में स्थापित किया गया। यह एकमात्र ऐसी स्पेस कंपनी है। जिसने कई हैरतअंगेज काम किए हैं। फिलहाल इनक सपना लोगों को मंगल ग्रह की सैर कर आना है। जो कि एक प्रकार से Space Tourism का हिस्सा है।

Scaled Composites

इस स्पेस कंपनी के संस्थापक Burt Rutan है। यह कंपनी कई तरह के एक्सपिरिमेंट स्पेसक्राफ्ट पर करती रहती है। यानी कि स्पेसक्राफ्ट के नए डिजाइन जो काम में लाई जा सके। यह उन स्पेसक्राफ्ट पर एक्सपेरिमेंट करती है। और उन स्पेसक्राफ्ट को अंतरिक्ष में भेजने योग्य बनाती है।

Virgin Galactic

इस कंपनी की स्थापना 2004 में हुई थी। इस कंपनी के संस्थापक रिचर्ड ग्रैंडसन है। स्पेस टूरिज्म में यह कंपनी भी किसी से पीछे नहीं है। इस कंपनी ने दो लाख डॉलर पहले ही उन लोगों से लिए हैं। जो कि Space में जाना चाहते हैं।

Bigelow Aerospace

इस कंपनी को Robert Bigelow ने 1998 को स्थापित किया। यह कंपनी भी स्पेस टूरिज्म मिशन पर काम करने की ओर अग्रसर है।

Space Tourism का भविष्य :

ऐसे बहुत से लोग हैं जो अंतरिक्ष को देखना चाहते हैं। अंतरिक्ष से पृथ्वी कैसी दिखती है। यह जानना चाहते हैं जिनके पास सबसे ज्यादा पैसा है। वह तो आसानी से स्पेस में जा सकते हैं। और हम यह सकते हैं कि यह सिर्फ उन लोगों के लिए है। जिनके पास बहुत ज्यादा पैसा हो इसलिए Space Tourism में बहुत ही ज्यादा मुनाफा है। अगर स्पेस कंपनीज ऐसे स्पेसक्राफ्ट की टेस्टिंग कर लेती है। जो कि स्पेस मेंआसानी से लोगों को पहुंचा सके। तो बाकी की कंपनीज भी इस तरफ से बढ़ेगी। जो कि स्पेस टूरिज्म को और ज्यादा बढ़ावा देगी और क्या पता भविष्य में आम लोग भी Space का सफर कर सकें।

हाल ही में SpaceX ने 3 लोगों को अंतरिक्ष में भेजने का निर्णय लिया है। यह तीन लोग अमेरिका इजरायल केनेडा से हैं। स्पेसएक्स ने प्रत्येक व्यक्ति से 55 मिलियन डॉलर लिए हैं। इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है। कि स्पेस टूरिज्म का भविष्य कैसा रहेगा। इन तीनों लोगों को 8 दिन के लिए इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में भेजा जाएगा। जहां से यह अंतरिक्ष की खूबसूरती का आनंद ले पाएंगे।

Space Tourism में कैसे स्पेसक्राफ्ट यूज होंगे

अगर Space में लोगों को ले जाने वाले स्पेसक्राफ्ट की बात करें तो हम स्पेसएक्स के Falcon Heavy Rocket को उदाहरण के तौर पर ले सकते हैं। लोगों को मंगल ग्रह पर पहुंचाने के लिए Spacex Falcon जैसे रॉकेट का उपयोग करने वाला है। जो स्पेस यात्रा में भी काम आएंगे। स्पेस में लोगों को ले जाने में कई स्पेस कंपनी में स्पेसक्राफ्ट बनाने की होड़ लगी है। परंतु जिस स्पेसक्राफ्ट मे लोगों को भेजा जाएगा। लोग Space Capsule में ही रहकर बाहर का नजारा देखेंगे।

Falcon जैसे रॉकेट Space Capsule को अंतरिक्ष में ले जाने में सक्षम होंगे। खैर अभी बहुत सी स्टार्टअप कंपनीज है। जो अपने अलगअलग प्रकार के छोटेबड़े स्पेसक्राफ्ट बनाने की ओर अग्रसर है। लोगों को Space Tourism कराने में कौन सबसे पहले बाजी मारेगा यह देखने वाली चीज होगी।

Space Tourism के फायदे

  1. अंतरिक्ष को देख सकेंगे जीरो ग्रेविटी का अनुभव कर पाएंगे। 
  2. पृथ्वी के आसपास के ग्रह को देख पाएंगे जिस ग्रह पर जाने की बातें हो रही है। यानी कि मंगल ग्रह है उसे करीब से देख पाएंगे।
  3. पृथ्वी अंतरिक्ष से कैसी दिखाई देती है और साथ ही हम उन Satellite को भी अपने आसपास घूमते देख सकेंगे। जो की स्पेस एजेंसी के द्वारा बनाए गए हैं।
  4. स्पेस में जाना लगभग ऐसा ही होगा जैसे हम अलग ही दुनिया में प्रवेश कर गए हो।
  5. जीरो ग्रेविटी के कारण अपने शरीर का वजन हमें अंतरिक्ष में महसूस ही नहीं होगा यह पल वाकई में अद्भुत होगा।

Conclusion ( निष्कर्ष )

आखिर में दोस्तों कहना चाहता हूं कि हालांकि अंतरिक्ष की सैर करना बिल्कुल भी सस्ता नहीं है। और एक आम आदमी को इसके लिए कई दशकों का समय लग जाए। हम यह मान सकते हैं कि यह सिर्फ अरबपतियों के लिए ही है। परंतु जो भी Space का यह अनुभव प्राप्त करेगा यह उसके लिए अद्भुत अनुभव होगा। जिस ग्रह पर हमने जन्म लिया उस पूरे ग्रह को स्पेसक्राफ्ट से देखना एक अलग ही अनुभव होगा।

तो दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट Space Tourism क्या है पसंद आई तो कृपया नीचे कमेंट करके अवश्य बताएं और इस पोस्ट को अपने मित्रों को अवश्य शेयर करें।

Leave a Comment